Depression in Hindi

डिप्रेशन सिर्फ बीमारी नहीं है यह एक ऐसी मानसिक हालत है, जिसमें पॉजिटिव सोचने और बेहतर रिजल्ट तक पहुंचने की इंसान की कपैसिटी कम हो जाती है।  जब नेगेटिव सोच का दायरा बढ़ता है तथा अधिक  देर तक रहता है तो इंसान को उदासी घेर लेती है। 

इस उदासी का दौर कई  महीनो तक  रह सकता है।

वक्त पर इलाज और करीबियों का साथ इस बीमारी से निपटने में अहम भूमिका निभाता है।

क्यों होता है यह डिप्रेशन ?

अवसाद के कारण / Cause of Depression in Hindi

Depression सिर्फ मस्तिष्क में हो रहे chemical imbalance की वजह से ही नहीं बल्कि कई अन्य जैविक, मनोवैज्ञानिक और सामाजिक कारणों से भी हो सकता है |

जैसे आपकी lifestyle, आपकी relations, आप  समस्याओं को कैसे handle करते  हैं, इन बातों की वजह से भी हो सकता है |

 पर कुछ factors depression होने के chances बढ़ा देते हैं जैसे–

  • चिंता और तनाव – प्रियजन से बिछड़ना, ब्रेकअप, किसी की मौत या तलाक
  • नौकरी छूटना या पैसे-जायदाद का नुकसान
  • रिटायरमेंट के बाद खुद को बेकार समझना
  • किसी कड़े मुकाबले में हार जाना
  • मेहनत के बाद भी उम्मीद के मुताबिक नतीजा न मिलना
  • कर्ज बढ़ जाना और उसे चुकाने का जरिया न होना
  • अकेलापन
  • Social support की कमी
  • वित्तीय समस्याएं
  • हाल में हुए तनावपूर्ण अनुभव
  • वैवाहिक या अन्य रिश्तों में खटास
  • शराब या अन्य नशीली दवाओं का सेवन
  • बेरोजगारी
  • भविष्य के प्रति अनिश्चितता
  • किसी बड़ी बीमारी या मौत का खौफ आदि।
  • डिप्रेशन खानदानी भी हो सकता है, जो पीड़ित की पर्सनैलिटी और सामाजिक-पारिवारिक तनाव की वजह से सामने आता है।
  • मिनोपॉज और डिलिवरी के बाद भी महिलाएं हॉर्मोनल चेंज की वजह से कई बार डिप्रेशन में आ जाती हैं।

Leave a Comment